32 स्विस मेहमानों को लेकर 8 को बनारस पहुंचेगा क्रूज

दुनिया के सबसे लंबे जलमार्ग पर सफर कर रहे गंगा विलास क्रूज की रफ्तार कोहरे ने धीमी कर दी है। 32 स्विस मेहमानों को लेकर वाराणसी आ रहा यह क्रूज अब आठ जनवरी को यहां पहुंचेगा। गुरुवार को यह जलयान डोरीगंज की सीमा में प्रवेश कर गया। जल परिवहन की सबसे लंबी और रोमांचकारी रिवर क्रूज यात्रा को पीएम मोदी 13 जनवरी को हरी झंडी दिखाएंगे।

इस क्रूज को छह जनवरी को वाराणसी पहुंचना था, मगर कोहरे के कारण दृश्यता कम होने के चलते विदेशी मेहमानों को लेकर कोलकाता से रवाना हुआ जलयान अब दो दिन की देरी से यानी आठ जनवरी को वाराणसी पहुंचेगा। आठ जनवरी को रविदास घाट पर मेहमानों का भव्य स्वागत किया जाएगा। इसकी तैयारियां पूरी हो गई हैं।

काशी की गलियों का भ्रमण करेंगे सैलानी

काशी प्रवास के दौरान उनके लिए खास व्यवस्था की गई है। काशी विश्वनाथ मंदिर और गंगा आरती के साथ ही सैलानी काशी की गलियों का भी भ्रमण करेंगे। इसके बाद यह क्रूज 13 जनवरी को 3200 किलोमीटर के जलमार्ग की यात्रा पर रवाना होगा। जलयान में सवार 32 विदेशी मेहमानों को डिब्रुगढ़ की यात्रा कराएगा। 

वाराणसी से बांग्लादेश होते हुए असम के डिब्रूगढ़ की यात्रा पर जाने वाला क्रूज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की निगरानी में रवाना होगा। भारतीय अंतरदेशीय जलमार्ग प्राधिकरण के क्षेत्रीय निदेशक राकेश कुमार ने कहा कि कोहरे के चलते जलयान के आगमन में देरी हुई है। अब आठ जनवरी को इसके वाराणसी पहुंचने की संभावना है। 52 दिन के सफर के दौरान भारत व बांग्लादेश के 27 रिवर सिस्टम से गुजरेगा। यह वैश्विक धरोहरों से संबंधित 50 से अधिक स्थानों पर रुकेगा। 

व्यापारी गतिविधियां होंगी तेज

नदी पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कोलकाता से 22 दिसंबर 2022 को 32 स्विस पर्यटकों को लेकर रवाना हुआ गंगा विलास क्रूज 8 जनवरी को वाराणसी पहुंचेगा। भारतीय अंतरदेशीय जलमार्ग प्राधिकरण (भाअजप्रा) के अधिकारियों के मुताबिक, वाराणसी-गाजीपुर-मझऊआं-बाढ़ जलमार्ग को पटना-फरक्का जलमार्ग की तर्ज पर विकसित करने की योजना है। इस जलमार्ग के शुरू हो जाने पर पूर्वांचल के बाजार की पहुंच दक्षिण पूर्व एशियाई देशों से हो जाएगी। इस मार्ग से व्यापारी गतिविधियां तेज होने से किसानों और व्यापारियों को फायदा होगा।

पीएम मोदी देंगे पूर्वांचल को चार जेटी की सौगात

 दुनिया के सबसे लंबे जलमार्ग पर चलने वाले गंगा विलास क्रूज को हरी झंडी दिखाने के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्वांचल को चार जेटी की भी सौगात देंगे। पीएम मोदी वर्चुअल माध्यम से 13 जनवरी को गंगा विलास क्रूज रवाना करने से पहले बलिया से वाराणसी के बीच बने इन जेटी को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। पीएम के हाथों जेटी लोकार्पण के लिए जलमार्ग प्राधिकरण (भाअजप्रा) ने तैयारी शुरू कर दी है। इसके अलावा पीएम मोदी 13 जनवरी को गंगा में नाव रेसिंग प्रतियोगिता को हरी झंडी दिखाएंगे। नावों को ठीक करने के साथ नाविक रेस की तैयारी में जुट गए हैं।

Related Articles

Back to top button