IAF ने जारी की ‘अग्निपथ योजना’ की डिटेल- साल में 30 दिन छुट्टी, बीमा कवर, समेत बहुत कुछ

नई दिल्ली: केंद्र सरकार की ओर से सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए लाई गई नई योजना ‘अग्निपथ’ को लेकर जारी विरोध के बीच भारतीय वायुसेना ने इस स्कीम से जुड़ी जानकारियां साझा कर दी हैं. अग्निपथ योजना के तहत इंडियन एयरफोर्स में 4 साल के लिए भर्ती होने वाले अग्निवीरों को वर्ष में 30 दिन की छुट्टी मिलेगी. इसके अलावा कैंटीन की सुविधा भी रहेगी. एयरफोर्स की ओर से उन्हें यूनिफॉर्म के ​अलावा इंश्योरेंस कवर भी मुहैया कराया जाएगा.

युवा इस योजना का विरोध कर रहे हैं. केंद्र सरकार और तीनों सेनाएं लगातार उनको ‘अग्निपथ योजना’ के प्रति जागरूक करने का काम कर रही हैं. इस योजना के बारे में सही जानकारी युवाओं तक पहुंचाने की कोशिश में लगी हुई हैं. इसी क्रम में भारतीय वायुसेना ने अपनी वेबसाइट पर अग्निपथ योजना से जुड़ी तमाम जानकारियां साझा की हैं. भारतीय वायुसेना के मुताबिक अग्निवीरों को वही सारी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी, जो नियमित सेवा वाले सैनिकों को मिलती हैं

भारतीय वायुसेना के अग्निवीरों को मिलेंगी निम्न सुविधाएं
भारतीय वायुसेना की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक अग्निवीरों को मासिक वेतन के साथ हार्डशिप अलाउंस, यूनिफॉर्म अलाउंस, कैंटीन और मेडिकल सुविधा भी प्रदान की जाएगी, जैसा कि एयरफोर्स के एक नियमित सैनिक को मिलती है. अग्निवीरों को ट्रैवल अलाउंस भी मिलेगा. साल में 30 दिन छुट्टी मिलेगी, साथ में मेडिकल लीव अलग से मिलेगा. हालांकि, यह मेडिकल चेकअप पर निर्भर करेगा. भारतीय वायुसेना में अग्निपथ योजना के तहत अग्निवीरों की भर्ती होने की उम्र 17.5 से 21 वर्ष होगी.

सर्विस (चार साल) के दौरान अगर अग्निवीर की मृत्यु होती है तो बीमा कवर मिलेगा, जिसके तहत उसके परिवार को करीब 1 करोड़ की आर्थिक सहायता ​दी जाएगी. ड्यूटी के दौरान विकलांग होने पर एक्स-ग्रेशिया 44 लाख रुपये मिलेंगे. साथ ही जितनी नौकरी बची है, उसकी पूरी सैलरी मिलेगी और सेवा निधि पैकेज भी मिलेगा. अग्निवीरों का कुल 48 लाख का इंश्योरेंस होगा. ड्यूटी में रहते वीरगति को प्राप्त होते हैं, तो एकमुश्त सरकार की तरफ से 44 लाख दिए जाएंगे और सेवा निधि पैकेज अलग रहेगा. इसके अलावा जितनी नौकरी बची है उसकी पूरी सैलरी मिलेगी.

इंडियन एयरफोर्स में 24 जून से शुरू होगी ​अग्निवीरों की भर्ती
आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वी.आर चौधरी पहले ही कह चुके हैं कि अग्निपथ योजना के तहत चयन प्रक्रिया 24 जून से शुरू हो जाएगी. उन्होंने यह भी कहा है कि 2022 के लिए अग्निपथ योजना के तहत इंडियन एयरफोर्स में भर्ती किए जाने वालों की उम्र सीमा बढ़ा कर 23 वर्ष कर दी गई है, जिससे कोरोना महामारी काल में भर्ती नहीं निकलने के कारण उम्र गंवाने वाले युवाओं के एक बड़े हिस्से को इसमें शामिल किया जा सकेगा. नई योजना के तहत 4 साल के सेवाकाल के दौरान करीब 2.5 महीने से 6 महीने तक के प्रशिक्षण की अवधि होगी.

Related Articles

Back to top button