पुनीत के निधन से फैंस को लगा सदमा, हार्ट अटैक से हुई मौत

कंचन यादव

बेंगलुरु: 29 अक्टूबर का दिन दक्षिणी सिनेमा जगत के लिए अंदर तक झकझोरने वाला था. क्योंकि कन्नड़ एक्टर पुनीत राजकुमार महज 46 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कह गए. उनकी मौत की वजह दिल का दौरा पड़ना बताई जा रही है. उनकी मौत की खबर ने उनके फैंस को बड़ा झटका दिया है. साथ ही बड़े-बड़े अभिनेताओं ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है.

बताया जा रहा है कि, पुनीत के चाहने वालों में से तीन लोगों की तो मौत भी हो गई. वह ये सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाए कि, अब पुनीत राजकुमार हमारे बीच नहीं हैं. जानकारी के मुताबिक, उनके निधन की खबर जैसे ही फैंस के बीच फैली वैसे ही 2 लोगों की हार्ट अटैक से मौत हो गई. जबकि, एक ने आत्महत्या करके मौत को गले लगा लिया. जैसा, कि आप जानते ही होंगे पुनीत दक्षिणी सिनेमा जगत के सुपरस्टार थे. वह अपनी एक्टिंग के साथ ही अपने सरल स्वभाव के लिए भी जाने जाते थे.

कुछ ऐसे थे पुनीत राजकुमार:

इस कन्नड़ अभिनेता के व्यवहार की जितनी बात की जाए वह बहुत ही कम है. वह बहुत ही मधुर और सरल स्वभाव के थे. यही, नहीं वह काफी मददगार भी थे. दिल खोल के दूसरों की मदद करने के लिए हमेशा आगे रहते थे. अब आप सोच रहे होंगे कि, हम ऐसा क्यों कह रहे हैं. चलिए अब आपको बताते हैं.

जानकारी के मुताबिक, पुनीत राजकुमार करीब 45 स्कूलों को फ्री चलवाते थे. ताकि, जो बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर हों, वह पढ़ाई-लिखाई कर अपना भविष्य खुद चुन सके. वह करीब 26 आनाथ आश्रम, 16 वृद्धाश्रम और 1800 आनाथ आश्रम लड़कियों के लिए भी चलवाते थे. इसके पीछे का मकसद उनका साफ था कि, लड़कियों को हायर एजुकेशन मिल सके.

राजकीय सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार:

आपको बता दें, उनका पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए बेंगलूरु के कांतीरवा स्टेडियम में रखा गया था. 31 अक्टूबर को पुनीत राजकुमार का
अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया गया. ऐसा बताया जा रहा है कि, अभिनेता को उनके माता-पिता की कब्र के पास ही दफनाया गया था.

फिटनेस के लिए जाने-जाते थे पुनीत:

पुनीत राजकुमार को बेहद फ़िट माना जाता था. उनकी अचानक 46 साल की उम्र में मौत के बाद सब इस बात से हैरान हैं कि, ऐसे कैसे अचानक उनकी मौत हो गई. आपको बता दें, 29 अक्टूबर की सुबह जिम करने के दौरान उनके सीने में दर्द हुआ था. जिसके बाद उन्हें बेंगलुरु के विक्रम अस्पताल में भर्ती कराया गया था. तबीयत में सुधार नहीं होने के चलते दोपहर करीब 2.30 बजे वह हम सभी के बीच से रुखसत हो गए.

Related Articles

Back to top button