Sitapur: सीएफसी का संचालन देखने पहुंचा कर्नाटक का दल, फिर

सीतापुर। कर्नाटक की आयुक्त उद्योग की अगुवाई में शहर आए पांच सदस्यीय दल ने सीएफसी का दौरा किया। दल में शामिल सदस्यों ने बताया कि उत्तर प्रदेश के ओडीओपी (एक जिला एक उत्पाद) की तर्ज पर कर्नाटक सरकार भी इसी तरह की योजना संचालित करने की तैयारी में है। इसी के लिए संचालन से जुड़ी बारीकियां सीखने के लिए कर्नाटक की आयुक्त उद्योग सत्यभामा की अगुवाई में पांच सदस्यीय अफसरों का दल प्रदेश भ्रमण पर आया है।
कर्नाटक के अफसरों की टीम ने बुधवार को जिले के बिसवां तहसील क्षेत्र के भगवानपुर माफी स्थित सीएफसी (कॉमन फैसेलिटी सेंटर) का भ्रमण किया। प्रदेश के सर्वोत्तम ओडीओपी प्रैक्टिस में शुमार सवा दो करोड़ की लागत से स्थापित इस सीएफसी में कच्ची सामग्री के भंडारण के साथ ही कॉमन प्रोसेसिंग सेंटर, डिजाइनिंग एंड सैंपलिंग सेंटर तथा डिस्प्ले एंड एग्जीबिशन सेंटर का संचालन भी किया जा रहा है।
जिले के डिप्टी कमिश्नर उद्योग आशीष गुप्ता ने कर्नाटक से आए दल के सदस्यों को बताया कि इस सीएफसी में 10 प्रतिशत एसपीवी व 90 प्रतिशत अंशदान सरकार ने दिया है। यहां दरी बनाने के लिए पानीपत से कम दरों पर कच्चा माल बुनकरों को उपलब्ध कराया जाता है।
प्रदेश में पहली बार उद्योग विभाग व मनरेगा के समन्वय से यहां सीएफसी के लिए मार्ग बनवाया गया है। कर्नाटक के अफसरों की टीम सीएफसी का कामकाज देख काफी प्रभावित हुई। इस मौके पर ओडीओपी प्रकोष्ठ के असिस्टेंट कमिश्नर प्रभात रंजन शुक्ला, जोनल कंसल्टेंट ई एंड वाई नीरज आद्या, एसपीवी अध्यक्ष हाजी रफीक व सचिव हयात कौसर मौजूद थे।

Related Articles

Back to top button